बुधवार, जून 26 2024 | 04:27:48 AM
Breaking News
Home / बाजार / आईडीएफसी फर्स्ट बैंक बोर्ड मीटिंग का परिणाम – ₹ 3,200 करोड़ का प्रफरेंशियल इश्यू
Banks cannot escape the responsibility of locker

आईडीएफसी फर्स्ट बैंक बोर्ड मीटिंग का परिणाम – ₹ 3,200 करोड़ का प्रफरेंशियल इश्यू

न्यू दिल्ली। आईडीएफसी फर्स्ट बैंक ने एक मजबूत और लाभदायक व्यवसाय मॉडल के साथ एक मजबूत नींव रखी है। बैंक को जमा राशि जुटाने में मजबूत प्रगति देखने को मिल रही है, जिसमें वित्त वर्ष 2024 में कस्टमर डिपॉजिट्स राशि में वित्त वर्ष 2023 की तुलना में 42% की वृद्धि हुई है। बैंक को हाई एसेट क्वालिटी के साथ ऋण वृद्धि के लिए महत्वपूर्ण आगामी अवसर भी दिखाई दे रहे हैं। बैंक की ओवरआल एसेट क्वालिटी अच्छी बनी हुई है, जिसके तहत 31 मार्च, 2024 तक जीएनपीए 1.88% और एनएनपीए 0.60% है। रिटेल, रूरल और एसएमई फाइनेंस बुक में, 31 मार्च, 2024 तक ग्रॉस और नेट एनपीए क्रमशः 1.38% और 0.44% पर काफी कम बने हुए हैं।

बैंक विकास के अवसरों का स्थिर तरीके से लाभ उठाने के लिए अनुभव, टीम, प्रौद्योगिकी, सिस्टम, जोखिम प्रबंधन और नियंत्रण के मामले में भी अच्छी स्थिति में है। वित्त वर्ष 24 में कर के बाद लाभ बढ़कर 2,957 करोड़ रुपये हो जाने के साथ बिजनेस भी प्रॉफिटेबल है, जो वित्त वर्ष 23 में ₹ 2,437 करोड़ से 21% अधिक है। 31 मार्च, 2024 तक पूंजी पर्याप्तता 16.11% पर मजबूत है। आगामी विकास अवसरों का लाभ उठाने के उद्देश्य से, बैंक प्रेफरेंशियल बेसिस पर बैंक के इक्विटी शेयर जारी करके ₹ 3,200 करोड़ की धनराशि जुटाने का इरादा रखता है। ₹ 3,200 करोड़ की इस प्रस्तावित पूंजी वृद्धि के साथ, बैंक की समग्र पूंजी पर्याप्तता 31मार्च, 2024 तक रिस्क वेटिड एसेट्स पर गणना के अनुसार 17.49% तक बढ़ जाएगी, जो बैंक को भविष्य के विकास में भाग लेने के लिए एक मजबूत स्थिति में रखेगी। उपर्युक्त आशय के साथ, बैंक के निदेशक मंडल (“बोर्ड”) ने आज यानि 30 मई, 2024 को आयोजित अपनी बैठक में, अन्य बातों के साथ-साथ, बताया है, जो निम्नलिखित है –

1 (“प्रस्तावित आवंटियों”) में उल्लिखित आवंटियों को, प्रत्येक ₹ 10/- फेस वैल्यू के 39,68,74,600 (उन्तालीस करोड़ अड़सठ लाख चौहत्तर हजार छह सौ) पूर्ण चुकता इक्विटी शेयर, प्रेफरेंशियल बेसिस पर, ₹ 80.63/- प्रति इक्विटी शेयर की कीमत पर, ₹ 3,200 करोड़ (मात्र तीन हजार दो सौ करोड़ रुपये) [ राउंड ऑफ] (“प्रेफरेंशियल इश्यू ”), कंपनी एक्ट, 2013 और सेबी आईसीडीआर रेग्युलेशंस के लागू प्रावधानों के अनुसार जारी करने, पेश करने और आवंटित करने पर विचार किया और उसे मंजूरी दी है, और यह ‘बैंक’ के शेयरधारकों के अनुमोदन के अधीन भी है।

इसके अलावा, बैंक के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स ने प्रस्तावित आवंटियों को प्रेफरेंशियल इश्यू के माध्यम से इक्विटी शेयर जारी करने और आवंटित करने के लिए बैंक के शेयरधारकों की मंजूरी लेने के लिए पोस्टल बैलेट की प्रक्रिया को मंजूरी दे दी है। साथ ही, बोर्ड ने प्रेफरेंशियल इश्यू के लिए शेयरधारकों की मंजूरी लेने के लिए जारी किए जाने वाले ड्राफ्ट पोस्टल बैलेट नोटिस को भी मंजूरी दे दी है।

आवंटन के बाद, बैंक के जारी की गई और पेड-अप इक्विटी शेयर पूंजी ₹ 10/- प्रत्येक पूर्ण पेड-अप इक्विटी शेयरों के 7,07,72,76,843 से बढ़कर ₹ 10/- प्रत्येक पूर्ण पेड-अप इक्विटी शेयरों के 7,47,41,51,443 हो जाएगी।

Check Also

न्फिनियम फार्माकेम लिमिटेड ने वित्त वर्ष 2024 में रु. 11.50 करोड़ का शुद्ध लाभ दर्ज किया

वर्ष-दर-वर्ष 17.2% की वृद्धि New Delhi. फार्मा इंटरमीडिएट्स और एपीआई आयोडीन डेरिवेटिव्स के निर्माण में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *