सोमवार , फ़रवरी 06 2023 | 03:57:31 PM
Breaking News
Home / स्वास्थ्य-शिक्षा / टीएसएससी 1.25 लाख युवाओं को नौकरी दिलाएगी और पूरे देश में 50 नए लैब करेगी स्थापित 
TSSC will provide jobs to 1.25 lakh youth and will set up 50 new labs across the country.

टीएसएससी 1.25 लाख युवाओं को नौकरी दिलाएगी और पूरे देश में 50 नए लैब करेगी स्थापित 

नयी दिल्ली. दूरसंचार के लिए भारत के प्रमुख कौशल विकास संस्थान टेलीकॉम सेक्टर स्किल काउंसिल (Skill Development Institute Telecom Sector Skill Council) (टीएसएससी) ने आज घोषणा की कि उसने सरकार और उद्योग के साझीदारों के सहयोग से दूरसंचार उद्योग के लिए कार्यबल को कौशल प्रदान करने में एक दशक पूरा कर लिया है। भारत में इस वर्ष 5जी (5G in India) को शुरू करने में तेजी आने के साथ तैयार कुशल कार्यबल इस वक्त की सबसे बड़ी जरूरत है। इस बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए टीएसएससी ने एक लाख से अधिक युवाओं को प्रशिक्षित करने और टेलकोजॉब्स जैसी अपनी प्लेसमेंट पहल के जरिये पूरे देश में 1.25 लाख से अधिक उम्मीदवारों को नौकरी दिलाने की योजना बनाई है।

50 नए प्रशिक्षण लैब और सेंटर ऑफ एक्सिलेंस स्थापित

साथ ही इसकी योजना विभिन्न उद्योग संबंधी पुरानी और भावी दूरसंचार नौकरियों के लिए आगामी वर्षों में पूरे भारत में कम से कम 50 नए प्रशिक्षण लैब और सेंटर ऑफ एक्सिलेंस स्थापित करने की है। ये लैब एक हब एंड स्पोक मॉडल के तहत आईटीआई और प्रमुख विश्वविद्यालयों में स्थापित किए जाएंगे। टीएसएससी ने अपनी स्थापना की 10वीं वर्षगांठ के मौके पर “टेलीकॉम विज़न टू 5 जी स्किलिंग” कार्यक्रम आयोजित किया।

संयुक्त परियोजनाओं पर दिया जाएगा ध्यान

टीएसएससी ने तिहान, आईआईटी हैदराबाद के साथ साझीदारी की घोषणा की जिसके तहत 5जी और इसके उपयोग के मामलों, आईओटी, क्लाउड, एआईध्एमएल जैसी उभरती प्रौद्योगिकियों में कौशल विकास और पाठ्यक्रमों के विकास, विशेष परियोजनाओं, कौशल विकास और अन्य संबद्ध सेवाओं में संयुक्त परियोजनाओं पर ध्यान दिया जाएगा।

तीन सेंटर ऑफ एक्सलेंस स्थापित करने की योजना

दूरसंचार में कौशल प्रदान करने के एक शीर्ष निकाय के तौर पर टीएसएससी ने पिछले कुछ वर्षों में नए कारोबारी क्षेत्रों जैसे कॉरपोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी (सीएसआर), सेंटर ऑफ एक्सिलेंस का विकास, अंतरराष्ट्रीय
कौशल विकास कार्यक्रम, प्लेसमेंट और पेड प्रोग्राम में विस्तार किया है। हाल ही में इस उद्योग निकाय ने पटना और दिल्ली एनसीआर में दो सेंटर ऑफ एक्सिलेंस का भी उद्घाटन किया और इसकी योजना वित्त वर्ष 2022-23 के अंत तक और तीन सेंटर ऑफ एक्सलेंस स्थापित करने की है।

नए क्षेत्रों की पहचान की जाएगी

तिहान, आईआईटी हैदराबाद के साथ इस सहमति ज्ञापन पर हस्ताक्षर 5 साल के लिए किया गया है और इसके साथ नयी प्रौद्योगिकियों के लिए गठबंधन हेतु नए क्षेत्रों की पहचान की जाएगी और पाठयक्रमों, लैब्स, उपकरण, अध्यापन केंद्र और सेंटर ऑफ एक्सलेंस के रूप में उनकी क्षमता का निर्माण किया जाएगा। यह सहयोग कंटेंट विकास और विशेष परियोजनाओं, अकादमिक या कॉरपोरेट में कौशल प्रशिक्षण दोनों तरह से किया जाएगा और युवाओं को रोजगार के लायक बनाया जाएगा। इस साझीदारी के तहत टीएसएससी TiHAN, को प्रशिक्षकों के प्रशिक्षण और असेसर्स के प्रशिक्षण के जरिये भी सहयोग करेगी और उभरती प्रौद्योगिकियों को लेकर सरकार और निजी क्षेत्र की अगुवाई वाले प्रशिक्षण कार्यक्रमों में भागीदारी करेगी।

Check Also

Mahindra University (MU) Hyderabad admission date

महिन्द्रा युनिवर्सिटी ने की स्नातक कार्यक्रमों में प्रवेश की घोषणा

नई दिल्ली. महिन्द्रा युनिवर्सिटी (एमयू) हैदराबाद (Mahindra University) ने अपने इंजीनियरिंग, लॉ और मैनेजमेंट स्नातक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *