गुरुवार , फ़रवरी 29 2024 | 07:12:14 AM
Breaking News
Home / राजकाज / ग्रामीण आवास का मिल सकता है तोहफा
Finance Bill approved without discussion, total 64 official amendments proposed

ग्रामीण आवास का मिल सकता है तोहफा

Jaipur. आगामी बजट 2024 (budget 2024) के आम चुनाव (General election) से पहले का आखिरी पूर्ण बजट है। इसमें सरकार ग्रामीण आवास योजना (Rural Housing Scheme), प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण (Pradhan Mantri Awas Yojana-Rural) (पीएमएवाई-जी) पर अपना पूरा जोर रख सकती है। सरकार मार्च 2024 तक शेष 84 लाख मकानों को पूरा करने के लिए बजटीय सहायता में महत्वपूर्ण वृद्धि की योजना बना सकती है। पीएमएवाई-जी मोदी सरकारी की प्रमुख योजनाओं में से एक है। इसके तहत, अन्य योजनाओं के साथ मार्च 2024 तक ग्रामीण इलाकों में 2.95 करोड़ पक्के मकान जिसमें शौचालय, विद्युत कनेक्शन आदि बुनियादी सुविधाएं मुहैया कराने का लक्ष्य है।

2.5 करोड़ मकानों को मंजूरी, 2.11 करोड़ मकान बनाए

15 दिसंबर, 2022 तक लक्ष्य के 2.5 करोड़ मकानों को मंजूरी दे दी गई है और 2.11 करोड़ मकान बनाए भी जा चुके हैं। वित्त वर्ष 23 में, केंद्र ने पहले कार्यक्रम के लिए 20,000 करोड़ रुपये आवंटित किए थे और फिर इसके लिए 28,000 करोड़ रुपये और दिए। यह अनुदान के लिए पूरक मांग के माध्यम से था, जिससे योजना का कुल आवंटन करीब 48,000 करोड़ रुपये हो गया। सूत्रों ने बताया कि बजट जो फरवरी में सदन में पेश किया जाएगा, आवंटन में उल्लेखनीय वृद्धि के साथ पीएमएवाई-जी पर समान जोर दिए जाने की उम्मीद है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘हमें आश्वासन दिया गया है कि पीएमएवाई-जी के शेष 84 लाख मकानों को पूरा करने के लिए जितनी राशि की जरूरत होगी, हमें दी जाएगी। उन्होंने कहा कि प्रमुख योजना की बात है धन की कमी नहीं होगी।

Check Also

The expansion of new airports will increase the scope of regional flight

राजस्थान में नागरिक उड्डयन सेवाओं के विस्तार और सुदृढ़ीकरण पर हुई विस्तृत चर्चा

केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्रालय के सचिव के साथ राजस्थान सरकार के शीर्ष अधिकारियों की मुलाकात …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *