शनिवार , अप्रेल 20 2024 | 02:59:25 PM
Breaking News
Home / रीजनल / सुगम, सहज, सुरक्षित मतदान के लिए निर्वाचन विभाग की पहल

सुगम, सहज, सुरक्षित मतदान के लिए निर्वाचन विभाग की पहल

366 सहायक मतदान केन्द्रों का निर्वाचन आयोग ने किया अनुमोदन, प्रदेश में अब 52122 मतदान केन्द्रों पर होगा मतदान

जयपुर। भारत निर्वाचन आयोग ने प्रदेश में 366 सहायक मतदान केन्द्रों की स्थापना को मंजूरी दी है। ये सहायक मतदान केन्द्र राज्य के 32 जिलों के 125 विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों में उन मतदान केन्द्रों पर बनाए जाएंगे जहां मतदाताओं की संख्या 1450 से अधिक है। ये मतदान केन्द्र मूल मतदान केन्द्र के साथ उसी भवन में स्थापित किए जाएंगे।

राज्य में वर्तमान में 51756 मूल मतदान केन्द्र आयोग द्वारा अनुमोदित है, अब 366 सहायक मतदान केन्द्रों के अनुमोदन के बाद 52122 मतदान केन्द्र हो गए हैं। मुख्य निर्वाचन अधिकारी श्री प्रवीण गुप्ता ने बताया कि यह केंद्र यथासंभव उसी भवन में बनेंगे और मतदाताओं की संख्या का विभाजन दोनों केंद्रों पर इस प्रकार किया गया है जिससे मतदान के दौरान लोगों को अधिक समय तक लाइन में खड़ा नहीं रहना पड़ेगा।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में भारत निर्वाचन आयोग की गाइडलाइन्स के अनुरूप सुगम, सहज, सुरक्षित मतदान के लिए मतदान केन्द्रों पर आवश्यक व्यवस्थाएं एवं सुविधाएं सुनिश्चित की जाएंगी। श्री गुप्ता ने कहा कि मतदान केंद्रों पर टॉयलेट्स, पेयजल, बिजली, वॉलन्टियर्स, व्हीलचेयर, रैम्प सहित सभी बुनियादी सुविधाओं की उपलब्धता रहेगी। उन्होंने कहा कि मतदाताओं की सहूलियत के लिए मतदान केन्द्रों पर साइनेज और हेल्प डेस्क की उचित व्यवस्था भी की जाएगी। मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि प्रदेश में निर्वाचन विभाग द्वारा राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक के बाद 366 सहायक मतदान केन्द्रों का प्रस्ताव भारत निर्वाचन आयोग को भेजा गया था, जिसका अनुमोदन प्राप्त हो गया है।

प्रस्ताव के अनुसार सबसे ज्यादा 92 सहायक मतदान केन्द्र जयपुर जिले में स्थापित किए जाएंगे, इनमें स्थानाभाव के कारण 7 मतदान केन्द्रों के भवन उसी परिक्षेत्र में परिवर्तित किए गए हैं। अन्य जिलों में जोधपुर में 45, कोटा और सवाई माधोपुर में 16-16, अलवर में 15, बीकानेर में 13, अजमेर, जालौर, चूरू में 12-12, भरतपुर, पाली, नागौर, हनुमानगढ़, टोंक में 11-11, सीकर में 9, झुंझुनूं, भीलवाड़ा में 7-7, उदयपुर, श्रीगंगानगर, झालावाड़ में 5-5, बाड़मेर, करौली, सिरोही में 4, बांसवाड़ा, बूंदी, प्रतापगढ़, चित्तौड़गढ़, डूंगरपुर में 3-3, दौसा और जैसलमेर जिलों में 2-2, तथा बारां में 1 सहायक मतदान केन्द्र बनाया जाएगा। विधानसभानुसार देखा जाए तो सांगानेर में सर्वाधिक 26, झोटवाड़ा में 14, सरदारपुरा में 13 और हवामहल में 11 सहायक मतदान केन्द्र बनाए जाएंगे।

Check Also

विधानसभा आम चुनाव-2023 : भारत निर्वाचक आयोग ने प्रदेश में लगाए 70 व्यय पर्यवेक्षक 

जयपुर। भारत निर्वाचन आयोग ने प्रदेश में विधानसभा आम चुनाव-2023 में उम्मीदवारों द्वारा किए जाने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *