मंगलवार, मई 21 2024 | 11:41:40 PM
Breaking News
Home / ऑटो-गैजेट्स / मर्सिडीज़-बेंज की सेल्स में तेजी जारी; 11 प्रतिशत की वृद्धि के साथ जनवरी-सितंबर की अवधि में 12,768 नई कारों की आपूर्ति की

मर्सिडीज़-बेंज की सेल्स में तेजी जारी; 11 प्रतिशत की वृद्धि के साथ जनवरी-सितंबर की अवधि में 12,768 नई कारों की आपूर्ति की

जनवरी-सितंबर’23 में एस-क्लास, मर्सिडीज़ मेबैक, एएमजी, और ईक्यूएस सहित टॉप-एंड वाहनों की भारी मांग जारी, जो 22 प्रतिशत तक बढ़ी, जिसमें 25 प्रतिशत वाईटीडी सेल्स शामिल है।

जयपुर। भारत के सबसे डिज़ायरेबल लग्ज़री कार निर्माता, मर्सिडीज़-बेंज ने आज जनवरी-सितंबर 2023 की अवधि के लिए अपनी मजबूत सेल्स की घोषणा की, जब कम्पनी ने 12,768 नई कारों की आपूर्ति की। 11 प्रतिशत वाईटीडी वृद्धि के साथ मर्सिडीज़-बेंज के उत्पादों की मांग लगातार बढ़ रही है, जो तीसरी तिमाही में आई सप्लाई की चुनौतियों के बावजूद है। इस

ब्रांड की ओर ग्राहकों का मजबूत रुझान इसके आकर्षक उत्पाद पोर्टफोलियो और एक सुगम ऑम्नी-चैनल अनुभव के कारण है, जो ‘रिटेल ऑफ द फ्यूचर बिज़नेस मॉडल’ द्वारा प्राप्त होता है। नए और मौजूदा उत्पादों में प्रवेश और मुख्य सेगमेंट के मॉडलों की स्थिर मांग ने जनवरी-सितंबर 2023 की अवधि में सेल्स में तेजी लाने में मुख्य भूमिका निभाई।

मर्सिडीज़-बेंज ने अपने ग्राहकों को कला, संस्कृति, फैशन और लग्ज़री का एक्सक्लुसिव अनुभव प्रदान करने के लिए नीता मुकेश अंबानी कल्चरल सेंटर (एनएमएसीसी) के साथ गठबंधन किया।

टीईवी सेगमेंट में हाई-एंड मर्सिडीज़-बेंज, एएमजी, और ईक्यूएस मॉडल्स की मांग भी तेज रही, और इसने साल के पहले नौ महीनों में मर्सिडीज़-बेंज के सेल्स वॉल्यूम में लगभग 25 प्रतिशत का योगदान दिया। मर्सिडीज़-बेंज के बीईवी पोर्टफोलियो में ईक्यूबी, ईक्यूई 500 एसयूवी, और अपडेटेड ईक्यूएस 580 लग्ज़री सेडान शामिल हैं, जो लगातार ग्राहकों की पसंद बने हुए हैं।

संतोष अईयर, मैनेजिंग डायरेक्टर एवं सीईओ, मर्सिडीज़-बेंज इंडिया ने कहा

‘‘जनवरी-सितंबर सेल्स मूमेंटम के साथ मर्सिडीज़-बेंज कारों की ओर मजबूत डिज़ायरेबिलिटी रही। हालाँकि, हम बाजार की पूरी क्षमता के अनुरूप सप्लाई नहीं कर पाए, जो मुख्यतः जीएलसी जैसी नई कारों के लिए हुआ, लेकिन हम सप्लाई चेन में मौजूदा चुनौतियों के बाद भी ग्राहकों की अपेक्षाओं को पूरा करने की पूरी कोशिश कर रहे हैं। हम अपने ग्राहकों को तीन-प्वाईंटेड स्टार पाने के लिए धैर्यपूर्वक इंतजार करने के लिए धन्यवाद देते हैं। टीईवी सेगमेंट की ओर ग्राहकों की पसंद लगातार बढ़ रही है, जो 22 प्रतिशत की वाईटीडी वृद्धि दर्ज कर रहा है, जिसमें भारत में बिकने वाली हर 4 में से एक मर्सिडीज़ शामिल है। ईक्यूई एसयूवी का लॉन्च भी सफल रहा, जिससे हमारे इलेक्ट्रिक वाहनों को बल मिला। मर्सिडीज़-बेंज अक्टूबर में ग्राहकों के लिए ‘सस्टेनेबिलिटी फेस्ट’ का आयोजन कर रही है, ताकि हमारे सस्टेनेबल लक्ष्यों की ओर उनकी जागरुकता व रुचि बढ़े।’’ ‘‘हम उत्साहित हैं कि मर्सिडीज़-बेंज इंडिया भारत में सबसे ज्यादा डिज़ायरेबल लग्ज़री ब्रांड बना हुआ है, और हम अपने ग्राहकों की अपेक्षाओं एवं इच्छाओं को पूरा करने का हर संभव प्रयास कर रहे हैं। सर्वश्रेष्ठ ग्राहक अनुभव क्योरेट करने के अलावा, हम एनएमएसीसी के साथ एक एक्सक्लुसिव पार्टनरशिप कर रहे हैं, जिससे हमारे ग्राहकों को कला एवं संस्कृति के एक्सक्लुसिव अनुभव प्राप्त हो सकेंगे। हमारे ग्राहक ‘असाधारण’ के पारखी हैं, और एनएमएसीसी के साथ हमारे गठबंधन द्वारा

उन्हें एनएमएसीसी में विश्व के मशहूर कलाकारों एवं अग्रणी आर्ट शो की एक्सक्लुसिव एक्सेस और शानदार अनुभव प्राप्त होगा।’’

सस्टेनेबिलिटी फेस्टः सस्टेनेबिलिटी की ओर जागरुकता अभियान

विश्व में 26 अक्टूबर को ‘‘सस्टेनेबिलिटी दिवस’’ मनाया जा रहा है, इसलिए मर्सिडीज़-बेंज ने अक्टूबर को ‘‘सस्टेनेबिलिटी माह’’ के रूप में मनाने का फैसला किया है। इस अवधि में सस्टेनेबिलिटी और सस्टेनेबल अभ्यासों के बारे में जागरुकता बढ़ाने के लिए अनेक इनोवेटिव अभियानों की योजना बनाई गई है।

मर्सिडीज़-बेंज विभिन्न शहरों में मिशेलिन स्टार शेफ्स के साथ गोल्फ टूर्नामेंट्स और डिनर्स का आयोजन कर रहा है, जिससे उन्हें ग्राहकों के साथ संलग्न होने और मर्सिडीज़-बेंज के सस्टेनेबिलिटी के उद्देश्यों के बारे में जागरुकता बढ़ाते हुए मोबिलिटी के भविष्य की ओर चिंतनशील वार्ताएं शुरू करने का अवसर मिलेगा।

मर्सिडीज-बेंज उन निष्ठावान ग्राहकों का सहयोग भी कर रही है, जो अपने आईसीई वाहनों को बीईवी वाहनों से बदलना चाहते हैं। कंपनी उन्हें ईवी वाहन खरीदने के लिए सस्टेनेबिलिटी लॉयल्टी बोनस भी दे रही है। इसके अलावा, मर्सिडीज-बेंज अक्टूबर में बिकने वाली हर ईक्यूबी, ईक्यूएस और ईक्यूई एसयूवी के लिए 50 प्रतिशत रोड टैक्स का सहयोग भी देगी। रोड टैक्स में 50 प्रतिशत का सहयोग उन राज्यों में दिया जाएगा, जहाँ इलेक्ट्रिक वाहनों के रजिस्ट्रेशन के वक्त रोड टैक्स लागू होता है।

 

Check Also

R&D investment should be given priority for economic growth in India - Tarun Mehta

भारत में आर्थिक वृद्धि के लिए आरएंडडी निवेश को प्राथमिकता दी जानी चाहिए – तरुण मेहता

नई दिल्ली : हाल ही में अपने एक ट्वीट में एथर एनर्जी के सीईओ, तरुण …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *