रविवार , अप्रेल 11 2021 | 02:34:03 PM
Home / बाजार / नर्ई भर्तियों के लिए कमर कस रहीं स्टार्टअप फर्में
Startup firms gearing up for new recruits

नर्ई भर्तियों के लिए कमर कस रहीं स्टार्टअप फर्में

नई दिल्ली। कोरोनावायरस महामारी (Covid-19 pandemic) के दौरान कर्मचारियों की संख्या और वेतन में कटौती को मजबूर हुई स्टार्टअप कंपनियां अब नई भर्तियों के लिए कमर कस रही हैं। इस क्षेत्र की ज्यादातर कंपनियां अपनी कारोबारी योजनाएं आगे बढ़ाने की रणनीति तैयार करने में जुट गई हैं। स्केलर के एक सर्वेक्षण के अनुसार वेंचर कैपिटल समर्थित स्टार्टअप (startup) और खास तौर पर एडटेक (तकनीक की मदद से शिक्षा देने वाली कंपनियां), मा-ढुलाई एवं अस्थायी कामगार रखने वाली (गिग) कंपनियां इस साल रोजगार देने में अहम भूमिका निभाएंगी।

1,500 से अधिक लोगों को भर्ती

ऑनलाइन शिक्षा देने वाली वेदांतु (Online education vedantu app) विभिन्न स्तरों पर 1,500 से अधिक लोगों को भर्ती करना चाहती है। उसे तकनीक, उत्पाद, वित्त, रणनीति एवं मानव संसाधन विभागों में कर्मचारी चाहिए। वेदांतु के मुख्य कार्य अधिकारी और सह-संस्थापक वामसी कृष्णा ने कहा, ‘इस समय ऑनलाइन माध्यम से पढ़ाई की काफी संभावना हैं और हमारा फर्ज है कि सभी छात्रों एवं शिक्षकों को अपने उत्पाद का बेहतरीन अनुभव दें। इसे ध्यान में रखते हुए हम सभी क्षेत्रों में भर्तियां कर रहे हैं।’

लिडो करीब 500 शिक्षक रखेगी

मुंबई की एडटेक स्टार्टअप लिडो लर्निंग (Edtech Startup Lido Learning of Mumbai) अगले एक महीने में करीब 1,000 लोगों की भर्तियां करेगी। कंपनी शिक्षक, ग्राहक सहायता कर्मचारी, बिक्री एवं विपणन प्रतिनिधियों जैसे सभी पदों पर भर्तियां करेगी और पहले से मौजूद टीम को भी मजबूती देगी। लिडो करीब 500 शिक्षक रखेगी और 400 से अधिक सेल्स एवं ग्राहक सहायता कर्मी रखेगी।

स्टार्टअप कंपनियों ने भर्तियां तेज की

वैश्विक भर्ती परामर्श फर्म माइकल पेज के क्षेत्रीय निदेशक अंशुल लोढ़ा का कहना है, ‘पिछले दो-तीन महीनों में स्टार्टअप कंपनियों ने भर्तियां तेज की हैं। एडटेक या फिनटेक कंपनियां ही नहीं उपभोक्ता तकनीक, गेमिंग और मीडिया टेक कंपनियां भी कर्मचारी रख रही हैं।’

कोविड-19 महामारी से लगा था झटका

कोविड-19 महामारी (Covid-19 pandemic) से कई स्टार्टअप कंपनियों के कारोबार को झटका लगा था और कई को छंटनी करनी पड़ी थी। स्विगी ने ही पिछले साल 1,400 से अधिक कर्मचारियों को जाने के लिए कह दिया था। मगर अब कंपनी ने मार्च तिमाही में बड़े पैमाने पर भर्ती की योजना तैयार की है। स्विगी में मानव संसाधन प्रमुख गिरीश मेनन ने कहा, ‘हम इंजीनियरिंग, उत्पाद, डेटा विज्ञान आदि में सही प्रतिभाएं लाने पर हमारा जोर है। साथ ही हम अपनी नई पहलों के लिए कारोबार श्रेणी और आपूर्ति व्यवस्था मजबूत करने में भी जुटे हैं।’

स्टार्टअप को मांग बढऩे

तेजी से भर्तियों की जरूरत इसलिए भी है क्योंकि स्टार्टअप (startup) को मांग बढऩे के साथ ही पूंजी भी हासिल हुई है। मिसाल के तौर पर वॉलमार्ट समर्थित फोनपे पर मासिक लेनदेन की संख्या 1 अरब तक पहुंच गई है। फोनपे 2021 में 700 भर्तियां करेगी। कंपनी के एक प्रवक्ता ने कहा, ‘लॉकडाउन के बावजूद फरवरी 2020 से अभी तक हम 700 नई भर्ती कर चुके हैं और अब हमारे पास कुल 2,240 कर्मचारी हैं।’ वित्त-तकनीक क्षेत्र की यूनिकॉर्न रेजरपे भी अगले 10 महीने में 650 कर्मचारियों की नियुक्ति करेगी।

नई भर्तियां इस वर्ष अधिक रह सकती

टीमलीज के अनुसार इस साल नई भर्तियां इस वर्ष अधिक रह सकती हैं। खबरों के अनुसार अगले कुछ समय में अपना आईपीओ लाने वाली जोमैटो भी इस वर्ष 400 कर्मचारियों की भर्ती कर सकती है। पिछले साल कोविड-19 की वजह से कंपनी ने अपने करीब 13 प्रतिशत कर्मचारियों की छंटनी की थी। ऑनलाइन किराना सामान बेचने वाली ग्रॉफर्स भी नए लोगों को ला रही है।

स्टार्टअप को बढ़ावा देने के लिए वन पर्सन कंपनी की घोषणा

Check Also

Aviation industry is hesitant due to increasing corona infection

कोरोना संक्रमण बढ़ने से हिचकोले खा रहा विमानन उद्योग

नई दिल्ली। कोरोना संक्रमण (Corona Infection) के बढ़ते मामलों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *