सोमवार , नवम्बर 29 2021 | 04:41:00 PM
Home / बाजार / लंबे समय बाद आईटी क्षेत्र में हो रही दफ्तर वापसी

लंबे समय बाद आईटी क्षेत्र में हो रही दफ्तर वापसी

Jaipur: देश भर में वायरस जैसे-जैसे कमजोर पड़ता जा रहा है, आईटी (सूचना प्रौद्योगिकी) सेवा क्षेत्र धीरे-धीरे खुलता जा रहा है और कर्मचारी क्रमबद्ध रूप से अपने डेस्क पर वापसी कर रहे हैं तथा अधिकारीगण कोविड जनित लंबी सुप्त अवधि के बाद ग्राहकों के साथ व्यक्तिगत रूप से मुलाकातों के लिए यात्रा कर रहे हैं। एक हालिया रिपोर्ट में कहा गया है कि कर्मचारी और नियोक्ता दोनों की ही कार्यस्थल पर वापसी करने में समान रूप से दिलचस्पी है, हालांकि यह हाइब्रिड व्यवस्था के संबंध में है। अगले साल शुरू होने वाले सप्ताह में करीब 50 प्रतिशत कार्यबल तीन दिन तक कार्यस्थल पर लौट सकता है। नैशनल एसोसिएशन ऑफ सॉफ्टवेयर ऐंड सर्विसेज कंपनीज (नैसकॉम) और नौकरी संबंधी सेवा प्रदान करने वाले पोर्टल इनडीड की रिपोर्ट-नैसकॉम रिटर्न टु वर्कप्लेस सर्वे में पाया गया है कि सर्वेक्षण में शामिल 70 प्रतिशत कंपनियों ने हाइब्रिड व्यवस्था सेटअप को पसंद किया। इसमें यह भी पाया गया कि आईटी सेवा क्षेत्र और वैश्विक क्षमता केंद्र काम के दीर्घकालिक हाइब्रिड प्रारूप को सबसे पहलेअपना सकते हैं।

आईटी सेवा क्षेत्र की सबसे बड़ी कंपनी टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस) ने अपने सभी कर्मचारियों को 15 नवंबर, 2021 तक अपने प्रतिनियुक्त वाले स्थानों (उनकी आधार शाखा) पर लौटने के लिए कहा है। इससे पहले टीसीएस ने कहा था कि भविष्य में उसका लक्ष्य 25/25 वाले प्रारूप की ओर बढऩा है।इस प्रारूप में यह उम्मीद की जाती है कि वर्ष2025 तक इसके लगभग पांच लाख वैश्विक कर्मचारियों में से केवल 25 प्रतिशत कर्मचारी ही कार्यालय वाले स्थानों पर होंगे, सहयोगी अपने समय का केवल 25 प्रतिशत भाग ही कार्यालय में व्यतीत करेंगे। परियोजना टीमों के भीतर केवल 25 प्रतिशत कर्मचारियों को ही किसी स्थान पर बुलाया जा सकता है।

टीसीएस के प्रवक्ता ने कहा ‘वर्तमान में हमारे पास कार्यालयों से काम करने वाले लगभग पांच प्रतिशत सहयोगी हैं। कैलेंडर वर्ष 2021 के अंत में हम अपने सहयोगियों को 25/25 वाले प्रारूप का रुख करने से पहले कम से कम शुरुआत में तो कार्यालयों में लौटने के लिए प्रेरित करेंगे। चरणबद्ध और लचीले तरीके से ऐसा किया जाएगा और यह संबंधित टीम प्रबंधकों तथा प्रत्येक टीम/परियोजना की आवश्यकताओं पर निर्भर करेगा।’ नैसकॉम-इनडीड के अध्ययन में यह भी पाया गया है कि 72 प्रतिशत संगठन अगले साल से अधिकतम 50 प्रतिशत कर्मचारी क्षमता पर काम करने की सोच रहे थे।

इन्फोसिस के मुख्य परिचालन अधिकारी और पूर्णकालिक निदेशक यूबी प्रवीण राव ने कंपनी के दूसरी तिमाही के परिणामों के दौरान कहा कि कंपनी के पास अभी भी लगभग 97 प्रतिशत कर्मी घर से काम कर रहे हैं। चीन में उसके पास कार्यालय में करने वाले 91 प्रतिशत कर्मचारी हैं। भारत, अमेरिका और ब्रिटेन में इन्फोसिस के 98.5 प्रतिशत कर्मचारी घर से काम कर रहे हैं। यूरोप में यह संख्या करीब 90 प्रतिशत और दक्षिण पूर्व एशिया में लगभग 80 प्रतिशत है। राव ने कहा कि जुलाई से अमेरिका और भारत दोनों में ही हमने सभी विकास केंद्रों में अपने कार्यालय खोल दिए हैं जहां कर्मचारियों को स्वैच्छिक आधार पर कार्यालय आने की अनुमति दी गई थी। भारत में अक्टूबर से हम सभी वरिष्ठ प्रमुखों को सप्ताह में कम से कम एक बार कार्यालय आने के लिए कहते आ रहे हैं।

Check Also

व्हाईटहैट जूनियर की सामुदायिक पहल

नई दिल्ली. ऑनलाइन लर्निंग प्लेटफॉर्म व्हाईटहैट जूनियर ने वंचित समुदाय के बच्चों व युवाओं को …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *