शुक्रवार, जुलाई 26 2024 | 01:22:47 AM
Breaking News
Home / कंपनी-प्रॉपर्टी / एआईसीटीई और ओप्पो इंडिया ने भारत में ‘जनरेशन ग्रीन’ अभियान के अंतर्गत 5000 स्टूडेंट इंटर्नशिप्स द्वारा ग्रीन स्किल्स के निर्माण के लिए गठबंधन किया

एआईसीटीई और ओप्पो इंडिया ने भारत में ‘जनरेशन ग्रीन’ अभियान के अंतर्गत 5000 स्टूडेंट इंटर्नशिप्स द्वारा ग्रीन स्किल्स के निर्माण के लिए गठबंधन किया

नई दिल्ली : ऑल इंडिया काउंसिल फॉर टेक्निकल एजुकेशन (एआईसीटीई) और ओप्पो इंडिया ने अपने ‘जनरेशन ग्रीन’ अभियान की घोषणा की। इस 100 दिवसीय कार्यक्रम का प्रबंधन 1M1B (वन मिलियन फॉर वन बिलियन) द्वारा किया जाएगा, और इसके अंतर्गत भारत के कॉलेजों में युवाओं को 5000 इंटर्नशिप्स के अवसरों द्वारा ग्रीन स्किल प्रदान की जाएगी।

राकेश भारद्वाज, हेड, पब्लिक अफेयर्स, ओप्पो इंडिया ने कहा, ‘‘ओप्पो इंडिया में हम भारत सरकार के नेट-जीरो विज़न के अनुरूप काम करते हैं। हमारा उद्देश्य सस्टेनेबिलिटी की ओर एक व्यापक अभियान छेड़ना है, जो युवाओं की शक्ति द्वारा प्रेरित हो।’’ उन्होंने कहा, ‘‘आज हम 5,000 सस्टेनेबिलिटी चैंपियंस का विकास कर रहे हैं, जो बदलाव लाने वालों की अगली पीढ़ी को प्रभावित करेंगे। इस कार्यक्रम द्वारा देश में स्कूल और कॉलेजों के कम से कम 10 लाख विद्यार्थियों को उचित ज्ञान व मूल्य प्राप्त होंगे, जो सस्टेनेबल समुदायों के निर्माण में मदद करेंगे। हमें इस परिवर्तनकारी अभियान के लिए एआईसीटीई के साथ साझेदारी करने की खुशी है और हम अपने सामूहिक प्रयासों द्वारा इस दिशा में अपना प्रभाव बढ़ाते रहेंगे।’’

डॉ. टीजी सीताराम, चेयरमैन, एआईसीटीई ने कहा, ‘‘एआईसीटीई को ग्रीन इंटर्नशिप प्रोग्राम के लिए ओप्पो इंडिया के साथ गठबंधन करने पर गर्व है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘यह विद्यार्थियों के लिए सस्टेनेबिलिटी के प्रयासों में योगदान देने और अपने कौशल का विकास करने का एक बेहतरीन अवसर है, ताकि वो पर्यावरण की चुनौतियों से निपट सकें और एक ईको-फ्रेंडली दुनिया के निर्माण में योगदान दे सकें। ओप्पो इंडिया पहली इलेक्ट्रॉनिक्स मैनुफैक्चरिंग कंपनी है, जो एआईसीटीई द्वारा इंटर्नशिप प्रदान कर रही है। यह अभियान एआईसीटीई, शिक्षा मंत्रालय, भारत सरकार के 1 करोड़ इंटर्नशिप मिशन का हिस्सा है, जिससे संयुक्त राष्ट्र के सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स प्राप्त करने में मदद मिलेगी।’’

इस इंटर्नशिप प्रोग्राम में सभी विषयों से टेक्निकल और नॉन-टेक्निकल विद्यार्थी हिस्सा ले सकते हैं। इंटर्न्स को कई गतिविधियों में हिस्सा लेने का अवसर मिलेगा, जिनसे प्रोजेक्ट मैनेजमेंट, सस्टेनेबिलिटी के अभ्यासों, प्रभावशाली कम्युनिकेशन, सहयोग, शोध एवं डेटा एनालिसिस में उनकी योग्यता का विकास होगा, और वो नौकरी के लिए ज्यादा काबिल बन सकेंगे। विद्यार्थियों को एक ग्रीन संकल्प दिलाया जाएगा और वो जागरुकता के सत्रों, ई-सर्वे, और ग्रीन डे आयोजनों में हिस्सा ले सकेंगे।

एआईसीटीई के चीफ को-ऑर्डिनेटिंग ऑफिसर, डॉ. बुद्ध चंद्रशेखर ने कहा, ‘‘एआईसीटीई इंटर्नशिप पोर्टल पर लगभग 50 लाख इंटर्नशिप हैं, जिनका उद्देश्य 2025 तक बढ़कर 1 करोड़ तक पहुँचना है। हमें 5000 सस्टेनेबिलिटी इंटर्नशिप प्रदान करने के लिए ओप्पो इंडिया के साथ साझेदारी करने की खुशी है। भारत में सस्टेनेबिलिटी और विकास में संतुलन बनाया जाना बहुत आवश्यक है। प्रभावशाली ई-वेस्ट मैनेजमेंट में युवाओं को लगाया जाना भी जरूरी है क्योंकि उनकी प्रतिबद्धता और इनोवेशन की मदद से एक स्वच्छ व सस्टेनेबल भविष्य सुनिश्चित किया जा सकता है। इन इंटर्नशिप्स में भाग लेने वाले विद्यार्थियों को 2 से 3 शैक्षणिक क्रेडिट भी दिए जाएंगे।

यह प्रोग्राम पूरा करने वाले विद्यार्थियों को एआईसीटीई, ओप्पो इंडिया और 1M1B द्वारा संयुक्त रूप से प्रमाणित सर्टिफिकेट दिए जाएंगे।

Check Also

वी फाउन्डेशन, एरिकसन और राजस्थान सरकार की रोबोटिक्स प्रतियोगिता ‘रोबोत्सव’ को स्कूली छात्रों से मिली शानदार प्रतिक्रिया

जयपुर में 50 स्कूलों से 600 से अधिक छात्रों ने इस आयोजन में हिस्सा लिया, …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *