शनिवार , अप्रेल 20 2024 | 04:40:40 PM
Breaking News
Home / बाजार / पॉवर ऑफ द कलेक्टिव में साझा किए गए अनुभवों में स्पष्ट प्रतिबिंबित हुआ
Vividly reflected in shared experiences in The Power of the Collective

पॉवर ऑफ द कलेक्टिव में साझा किए गए अनुभवों में स्पष्ट प्रतिबिंबित हुआ

Jaipur. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) के उद्देश्य के अनुरूप अंतिम छोर पर बैठे व्यक्ति को सशक्त बनाने के लिए अंत्योदय की ओर भारत सरकार के प्रयास सार्वजनिक स्वास्थ्य के मामले में कई लोगों और संगठनों के अथक परिश्रम से जुड़े हैं। यह कॉन्क्लेव कोविड-19 पर भारत की सफलता की खुशी मना रही है,जिसे पॉवर ऑफ द कलेक्टिव (power of the collective) नाम दिया गया है। हम वास्तव में वो देश बन गए हैं, जो सबकासाथ, सबकाविकास में यकीन रखता है। हमारा उद्देश्य सदैव हर नागरिक तक पहुँचना है, देश के सबसे दूरदराज के कोने में सबसे नाजुक व्यक्ति तक पहुँचकर उनके स्वास्थ्य और सेहत की रक्षा करना है।

भारत में कोविड-19 वैक्सीनेशन का कवरेज बढ़ाने

इस कॉन्क्लेव का हिस्सा बनकर उन लोगों में मेरा विश्वास पुख्ता होता है, जिन्होंने कोविड-19 पर विजय पाने के लिए अथक परिश्रम किया। मुझे विश्वास है कि उनके ये प्रयास महामारी के बाद भी हमारा सहयोग करते
रहेंगे। ये शब्द डॉ. अशोक बाबू, संयुक्त सचिव, स्वास्थ्य व परिवार कल्याण मंत्रालय ने पत्रकार वार्ता में कहे। डॉ. अशोक बाबू ने यह अवलोकन 31 जनवरी, 2023 को राष्ट्रीय कॉन्क्लेव में किया, जिसमें स्वास्थ्य व परिवार कल्याण मंत्रालय एवं राज्य के स्वास्थ्य विभागों द्वारा भारत में कोविड-19 वैक्सीनेशन का कवरेज बढ़ाने के लिए यूसैड जैसे साथी संस्थानों के सहयोग से क्रियान्वित अभिनव पहलों का प्रदर्शन किया गया था।

33 राज्यों के स्वास्थ्य विभागों ने हिस्सा लिया

इस कॉन्क्लेव में डॉ. मनोहर अगनानी, पूर्व एडिशनल सेक्रेटरी, स्वास्थ्य व परिवार कल्याण मंत्रालय; मिस पैट्रिसिया ए. लैसिना, डिप्टी चीफ ऑफ मिशन, यूएस दूतावास; डॉ. सेठ बर्कले, सीईओ, गवि, द वैक्सीन अलायंस; डॉ. वीणा धवन, एडिशनल कमिश्नर (इम्युनाईज़ेशन), स्वास्थ्य व परिवार कल्याण मंत्रालय; मिस संगीता पटेल, डायरेक्टर, हैल्थ ऑफिस, यूसैड; डॉ. संजय कपूर, मैनेजिंग डायरेक्टर, जॉन स्नो इंडिया आदि मौजूद थे। इसका आयोजन इंपीरियल होटल, दिल्ली में किया गया था और इसमें 33 राज्यों के स्वास्थ्य विभागों ने हिस्सा लिया था। इस समारोह की मेजबानी स्वास्थ्य व परिवार कल्याण मंत्रालय और यूनाईटेड स्टेट्स एजेंसी फॉर इंटरनेशनल डेवलपमेंट (यूसैड) द्वारा सपोर्टेड जॉन स्नो इंडिया ने की। इस कॉन्क्लेव से पूर्व 30 जनवरी, 2023 को एक क्लोज़्ड डोर मीटिंग का आयोजन हुआ था, जिसमें अंशधारकों ने हिस्सा लेकर स्वास्थ्य प्रणाली को और ज्यादा मजबूत बनाने के लिए कोविड-19 वैक्सीनेशन कार्यक्रम के प्रभाव और परिणामों को साझा किया।

Check Also

वरेनियम क्लाउड लिमिटेड का रु. 49.46 करोड़ का राइट्स इश्यू 28 सितंबर, 2023 को खुलेगा

राइट्स इश्यू की कीमत रु. 123 प्रति शेयर है; राइट्स इश्यू 4 अक्टूबर, 2023 को …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *