रविवार , जून 20 2021 | 08:31:53 PM
Home / स्वास्थ्य-शिक्षा / ऑक्सीजन आपूर्ति में जापान होगा मददगार!
Japan will be helpful in oxygen supply!

ऑक्सीजन आपूर्ति में जापान होगा मददगार!

जयपुर। कोविड-19 संक्रमण (Covid19 Infection) के मामले बढऩे की वजह से भारत में मेडिकल ऑक्सीजन की बढ़ती मांग (Increasing demand for medical oxygen) को पूरा करने में जापान मददगार साबित हो सकता है। घरेलू निर्माताओं से ऑक्सीजन की आपूर्ति बढ़ाने के अलावा केंद्र सरकार ने तरल मेडिकल ऑक्सीजन खरीदने के लिए भारतीय दूतावासों को काम पर लगाया है। विदेश मंत्रालय को ऑक्सीजन की तत्काल आपूर्ति के लिए गठजोड़ करने के लिए कहा गया है।

99.5 फीसदी शुद्धता के साथ मेडिकल ऑक्सीजन

वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों ने बताया कि पहला करार जापान की एक कंपनी के साथ होगा जो भारत को 10 टैंकर देगी। इस बातचीत से जुड़े एक व्यक्ति ने बताया कि इससे मोटे तौर पर भारत में 19 टैंकर हो जाएंगे। तिरुवनंतपुरम के एचएलएल लाइफकेयर ने राज्यों और केंद्र सरकार के अस्पतालों के लिए 20 टन आईएसओ कंटेनरों में कम से कम 99.5 फीसदी शुद्धता के साथ मेडिकल ऑक्सीजन (medical oxygen) खरीदने के लिए वैश्विक निविदा जारी की है। इस निविदा की आखिरी तारीख 28 अप्रैल है।

50,000 टन मेडिकल ऑक्सीजन आयात करने की घोषणा

पिछले हफ्ते निविदा निकाली गई थी और इसके बाद भारतीय दूतावासों ने उन देशों की कंपनियों को पत्र दिए जहां वे काम कर रहे हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने शुक्रवार को 50,000 टन मेडिकल ऑक्सीजन आयात करने की घोषणा की थी। सशक्त समूह 2 (ईजी 2) की एक बैठक में महामारी के दौरान जरूरी चिकित्सा उपकरणों और ऑक्सीजन (medical oxygen) की उपलब्धता की समीक्षा की गई थी। इसमें यह फैसला किया गया था कि 12 ज्यादा दबाव वाले राज्यों के लिए ऑक्सीजन के स्रोत का अंदाजा लगाने का फैसला किया गया।

मेडिकल ऑक्सीजन कोविड प्रभावित मरीजों के इलाज में

मेडिकल ऑक्सीजन (medical oxygen) कोविड प्रभावित मरीजों के इलाज में एक अहम हिस्सा है। विशेष रूप से 12 राज्यों से मेडिकल ऑक्सीजन(medical oxygen) की मांग बढ़ रही है जहां कोविड के ज्यादा मामले हैं। इनमें महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, गुजरात, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, छत्तीसगढ़, कर्नाटक, केरल, तमिलनाडु, पंजाब, हरियाणा और राजस्थान जैसे राज्य शामिल हैं। हालांकि महाराष्ट्र में ऑक्सीजन की मांग राज्य की उपलब्ध उत्पादन क्षमता से अधिक होने की उम्मीद है। लेकिन मध्य प्रदेश जैसे राज्यों में मेडिकल ऑक्सीजन (medical oxygen) की मांग पूरा करने के लिए कोई उत्पादन क्षमता नहीं है। मंत्रालय ने कहा कि इसके अलावा गुजरात, कर्नाटक और राजस्थान जैसे अन्य ऑक्सीजन उत्पादक राज्यों में मांग बढऩे का रुझान है।

ऑनलाइन धड़ाधड़ बिक रहे पोर्टेबल ऑक्सीजन सिलेंडर, 4 दिन में मांग 4 गुना बढ़ी

Check Also

Pharma companies came forward to help affected employees

प्रभावित कर्मचारियों की मदद में आगे आईं फार्मा कंपनियां

जयपुर। महामारी के दौरान कर्मचारियों और उन पर आश्रित परिवार के सदस्यों की मदद के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *