मंगलवार, मई 21 2024 | 11:51:27 PM
Breaking News
Home / स्वास्थ्य-शिक्षा / राज्य स्तरीय वीसी में केजीबीवी की प्रगति की समीक्षा

राज्य स्तरीय वीसी में केजीबीवी की प्रगति की समीक्षा

आवासीय विद्यालयों में सुचारू व्यवस्थाओं से बालिकाओं का सर्वांगीण विकास सुनिश्चित हो— शासन सचिव

जयपुर। प्रदेश में संचालित 328 कस्तूरबा गांधी बालिका आवसीय विद्यालयों (केजीबीवी) की प्रगति की समीक्षा के लिए गुरूवार को स्कूल शिक्षा विभाग के शासन सचिव श्री नवीन जैन की अध्यक्षता में राज्य स्तरीय वीडियो कांफ्रेंसिंग का आयोजन किया गया। वीसी में केजीबीवी की नियमित गतिविधियों से सीधे जुड़े समग्र शिक्षा के

 

जिला स्तरीय अधिकारियों, शिक्षकों और कार्मिकों को सम्बोधित करते हुए श्री जैन ने कहा कि इन संस्थाओं में अध्ययनरत बालिकाओं में ‘हैप्पीनेस‘ बढ़ाने के लिए ग्रुप एक्टिविटीज को प्रमोट करें, वहीं उनमें प्रकृति के साथ लगाव पैदा करने के लिए आवासीय विद्यालयों में ‘किचन गार्डन’ विकसित करने के कंसेप्ट को पूरी शिद्दत के साथ लागू किया जाए।

 

शासन सचिव ने कहा कि केजीबीवी की बालिकाओं को खेलकूद, सांस्कृतिक और अन्य सह पाठ्यक्रम की गतिविधियों में नियमित तौर पर भागीदारी के लिए प्रेरित किया जाए, जिससे अध्ययन के साथ-साथ उनके व्यक्तित्व के सर्वांगीण विकास की बुनियाद भी रखी जा सके। उन्होंने केजीबीवी के संचालन में अच्छा कार्य करने वाले कार्मिकों की सराहना करते हुए कहा कि रोज खाना बनाने के लिए अनुबंध पर कार्यरत महिलाओं का बालिकाओं के प्रति खास लगाव होता है, उनको काम को सपोर्ट करते हुए सम्मान दिया जाए। उन्होंने सभी केजीबीवी में डिजिटल लाइब्रेरी के सुव्यवस्थित तरीके से संचालन के लिए संस्था प्रधानों को क्षेत्र में कनेक्टिविटी और स्पीड के आधार पर उपयुक्त प्लान का इंटरनेट कनेक्शन लेने के भी निर्देश दिए।

 

जैन ने कहा कि बालिकाओं के नियमित स्वास्थ्य परीक्षण के लिए आगामी दिनों में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के साथ समन्वय करते हुए केजीबीवी के निकटवर्ती पीएचसी या सीएचसी के माध्यम से व्यवस्था की जाएगी। उन्होंने नामांकन में बढ़ोतरी, स्वच्छता एवं संरक्षण, बालिकाओं को लाईब्रेरी बुक्स पढ़ने के लिए प्रेरित करने, कौशल एवं सामान्य ज्ञान में वृद्धि के लिए थीम बेस्ड कॉम्पीटिशन आयोजित करने के साथ ही 9वीं से 12वीं कक्षा के लिए मिशन ज्ञान के ई-कंटेंट के माध्यम से अवकाश के दिन विशेष रैमेडियल क्लासेज चलाने के भी निर्देश दिए।

 

राजस्थान स्कूल शिक्षा परिषद की आयुक्त एवं राज्य परियोजना निदेशक डॉ. टी. शुभमंगला ने कहा कि समग्र शिक्षा के जिला स्तरीय अधिकारी अपने अधीन आने वाले केजीबीवी का रैंडम आधार पर इंस्पैक्शन करे। इस दौरान शिक्षा संकुल के वीसी कक्ष में राजस्थान स्कूल शिक्षा परिषद के अधीक्षण अभियंता, उपायुक्त, उप निदेशक, सहायक निदेशक तथा कई जिलों से आए समग्र शिक्षा अभियान के अतिरिक्त जिला परियोजना समन्वयक और अन्य सम्बंधित अधिकारी मौजूद रहे। वहीं जिलों से समग्र शिक्षा के अन्य अतिरिक्त जिला परियोजना समन्वयक, कार्यक्रम अधिकारी, सहायक परियोजना समन्वयक, नोडल प्रिंसिपल और केजीबीवी वार्डन वीसी से जुड़े।

Check Also

बिरला इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट टेक्नोलॉजी (बिमटेक) के 36वें दीक्षांत समारोह का आयोजन

उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ के प्रभावी उद्बोधन ने विद्यार्थियों को किया प्रेरित,  कुल 478 छात्रों ने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *