मंगलवार, मई 21 2024 | 09:58:58 PM
Breaking News
Home / कृषि-जिंस / कीमतों को काबू में रखने के लिए सरकार 30 लाख टन गेहूं खुले बाजार में बेचेगी
Government will sell 3 million tonnes of wheat in the open market to keep prices under control

कीमतों को काबू में रखने के लिए सरकार 30 लाख टन गेहूं खुले बाजार में बेचेगी

Jaipur. गेहूं और इसके आटे की कीमतों में तेजी को रोकने के लिए सरकार अपने बफर स्टॉक से 30 लाख टन गेहूं और गेहूं का आटा खुले बाजार में बेचेगी। सूत्रों ने यह जानकारी दी है। आटे की औसत कीमतें बढ़कर करीब 38 रुपये प्रति किलो हो गई हैं। सूत्रों ने बताया कि खाद्य मंत्रालय (Ministry of Food) मुक्त बाजार बिक्री योजना (Open Market Sale Scheme) (OMSS) के तहत 30 लाख टन गेहूं की खुले बाजार में बिक्री करेगा। बाकी लोगों के अलावा आटा मिलों और व्यापारियों को गेहूं का स्टॉक बेचा जाएगा। खाद्य सचिव संजीव चोपड़ा ने 19 जनवरी को कहा था कि गेहूं और आटे की खुदरा कीमतें बढ़ गई हैं और सरकार जल्द ही बढ़ती दरों को नियंत्रित (wheat in prices under control) करने के लिए कदम उठाएगी।

सामान्य खुले बाजार की कीमतों पर लगाम लगाना

ओएमएसएस नीति के तहत सरकार समय-समय पर थोक उपभोक्ताओं और निजी व्यापारियों को खुले बाजार में पूर्व-निर्धारित कीमतों पर खाद्यान्न, विशेष रूप से गेहूं और चावल बेचने के लिए सरकारी उपक्रम भारतीय खाद्य निगम (एफसीआई) को अनुमति देती है। इसका उद्देश्य जब खास अनाज का मौसम न हो, उस दौरान इसकी आपूर्ति बढ़ाना और सामान्य खुले बाजार की कीमतों पर लगाम लगाना है। यहां तक कि आटा मिलों ने सरकार से एफसीआई से गेहूं के स्टॉक से अनाज बाजार में लाने की मांग की है।

Check Also

Smile came on the faces of the farmers, setting up the industry became easy

किसानों के चेहरों पर आई मुस्कान उद्योग लगाना हुआ आसान

राजस्थान कृषि प्रसंस्करण, कृषि व्यवसाय एवं कृषि निर्यात प्रोत्साहन नीति, प्रसंस्करण इकाई पर मिल रहा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *